top of page
Search
  • deepak9451360382

Vastu

शॉपिंग मॉल और वास्तु शास्त्र

भारत में लगभग बड़े शहरों में शॉपिंग मॉल बन रही है बढ़ती कीमतों के कारण बनाने में बहुत लागत आती चाहे देखने में कितना ही सुंदर हो शानदार क्यों ना बना हो यदि उस मॉल निर्माण वास्तु शास्त्र के अनुरूप नहीं होगा निश्चित रूप से बनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा और उसके बाद मॉल की दुकाने बेचने में कठिनाइयां होंगी साथ ही साथ उचित कीमत भी नहीं मिलती जो दुकानदार वास्तु शास्त्र सिद्धांतों विपरीत बनी हुई मॉल में दुकान खरीद लेता है तो उसे जबरदस्त नुकसान पड़ता है

आपने देखा होगा कई मॉल बड़े बड़े सुंदर शॉपिंग मॉल है जोकि वास्तु शास्त्र सिद्धांतों के विपरीत होने के कारण नहीं चल पा रहे एक और जहां बनाने वाले घाटे में है वहीं दूसरी ओर कारोबार करने वाले घाटे में हैं इसलिए मॉल बनाते समय वास्तु शास्त्र के सिद्धांत पालन करें .

शॉपिंग मॉल के लिए शहर के केंद्र या शहर के बढ़ रहे चित्र का चयन करें जोकि से शहर का संपूर्ण समकोण आकार की प्लॉट का चयन करें

पंडित दीपक पांडे के अनुसार शॉपिंग मॉल की निर्माण प्लांट दक्षिण पश्चिम क्षेत्र में होना चाहिए और उसमें बनने वाले दुकान समकोण के आकार की होनी चाहिए अनियमित आकार नहीं हो उत्तर पूर्व ईशान कोण ज्यादा खुला छूना चाहिए

शॉपिंग मॉल को बनाने के लिए भूखंड का लेवल समकोण या उत्तर ढाल होनी चाहिए पूर्व एवं ईशान कोण में नीचा होना और दक्षिण पश्चिम महत्वपूर्ण ऊंचा रहना चाहिए

पंडित दीपक पांडे के अनुसार शॉपिंग मॉल के लिए जल का स्रोत उत्तर पूर्व दिशा ईशान कोण में शॉपिंग मॉल बनाने वाली और व्यापार करने वाले सभी को अच्छा आर्थिक लाभ प्राप्त होता है

शॉपिंग मॉल में प्रवेश द्वार पूर्व ईशान दक्षिणी अग्नि पश्चिम वायव्य उत्तर ईशान मैं होना चाहिए प्रवेश द्वार पूर्वी आग्नेय दक्षिण पश्चिम पश्चिमी नृत्य कोण उत्तरी वायब नहीं होना चाहिए यही नियम शॉपिंग मॉल सभी व्यापारिक एवं रिहाईसी स्थानों पर लागू होता है

शॉपिंग मॉल में खिड़कियां उत्तर पूर्व दिशा में होनी चाहिए दक्षिण पश्चिम में नहीं होना चाहिए

शॉपिंग मॉल में दुकानों के अंदर अलमारियां दक्षिण पश्चिम की दीवारों पर होना चाहिए

शॉपिंग मॉल में और जाने के लिए दक्षिण पश्चिम सीड़िया होनी चाहिए ऊपर चलती समय दाहिनी हाथ की तरफ मोड़ना चाहिए चाहिए

पंडित दीपक पांडे बताया कि शॉपिंग मॉल में ऊपर जाने के लिए लिप्ट को दक्षिण पश्चिम दिशा में लगाना चाहिए ध्यान रहे लगाने में गड्ढा ना हो नहीं तो गधे का वास्तु दोष आएगा क्योंकि महत्वपूर्ण पैदा हो जाता है जोकि कई प्रकार की समस्याओं का बनता है इस प्रकार लगानी चाहिए कि 7:00 या 8:00 चढ़ने के बाद जाया जा सके लेबल फ्लोर ही प्रारंभ हो उत्तर पूर्व दिशा में गड्ढा खोदकर लगाया जा सकता है

शॉपिंग मॉल मी छोटी-छोटी आकार के आकार की व्यवसायिक रहने के लायक 2 फ्लोर या और ऊपर ना चाहिए सभी फ्लोर दुकानों मध्य में चौड़ाई कारी डोर होना चाहिए

मॉल के ऊपर बालकनी एवं बरामदे बनाने हूं उत्तर पूर्व ईशान पूर्वी बनानी चाहिए

शॉपिंग मॉल में जनरेटर मीटर अन्य विद्युत उपकरण व्यवस्था अग्नि अग्नि कोण में होनी चाहिए

पं.दीपक पांडे ने बताया शॉपिंग मॉल यदि गार्डन बनाना है तो उत्तर पूर्व ईशान कोण में बनाना चाहिए मंदिर भी किया जा सकता है जहां पर पूर्व उत्तर दिशा में द्वार बड़े पौधे दक्षिण पश्चिम मैं हूं

शॉपिंग मॉल का पानी की टंकी दिशा में होना चाहिए

u आकृति का शॉपिंग मॉल बनाते समय दक्षिण पश्चिम एवं पूर्व की तरफ दक्षिण पश्चिम दिशा की तरफ निर्माण करना चाहिए

Lकी आकृति शॉपिंग मॉल बनाते समय केवल दक्षिण पश्चिम की दिशा में वास्तु शास्त्र के अनुरूप होता है

पं.दीपक पांडे ने9305360382

0 views0 comments

Recent Posts

See All

*द्वादश भाव मे शनि का सामान्य फल* 〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️ जन्म कुंडली के बारह भावों मे जन्म के समय शनि अपनी गति और जातक को दिये जाने वाले फ़लों के प्रति भावानुसार जातक के जीवन के अन्दर क्या उतार और चढा

Post: Blog2_Post
bottom of page